PM Kisan samman nidhi Yojana: किसानों को लग सकता है झटका! लाभ पाने के लिए जल्दी करें ये काम वरना नहीं मिलेगी 15वीं किस्त की राशि

PM Kisan samman nidhi Yojana: जहानाबाद में अपर समाहर्ता की अध्यक्षता में कृषि टास्क फोर्स की बैठक हुई. इस दौरान मौसम और फसल की स्थिति, पशुपालन और किसान सम्मान निधि समेत कई योजनाओं पर चर्चा की गई. बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 4500 से अधिक किसानों के ई-केवाईसी के संबंध में जानकारी दी गयी. बताया गया कि चार हजार से अधिक किसानों के पास ई-केवाईसी नहीं है

जागरण संवाददाता, जहानाबाद। जहानाबाद में अपर समाहर्ता सुधा गुप्ता की अध्यक्षता में कृषि टास्क फोर्स की बैठक हुई

इसमें मौसम और फसल की स्थिति, कवरेज, उर्वरक उपलब्धता, पशुपालन, बागवानी, बिजली, सिंचाई, हर खेत को पानी, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि आदि योजनाओं की विस्तृत समीक्षा की गई और समय पर निर्देश दिए गए

इन किसानों ने ई-केवाईसी नहीं कराया है।

PM Kisan samman nidhi Yojana बताया गया कि जिले में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 4500 से अधिक किसानों का ई-केवाईसी अपडेट किया गया है, लेकिन अभी भी 4101 किसानों का ई-केवाईसी तथा 2999 किसानों का आधार व बैंक खाता नेशनल से लिंक नहीं है. भारतीय भुगतान निगम

ऐसे में इन किसानों को मिलने वाली आगामी 15वीं किस्त की रकम बाधित होने की आशंका है. यह भी बताया गया कि अब तक जिले के कुल 40 किसानों से 6 लाख 38 हजार रुपये की वसूली की जा चुकी है. जिला पदाधिकारी ने जिले में धान एवं गेहूं के अलावा व्यवसायिक एवं मोटे अनाज की खेती को बढ़ावा देने का निर्देश दिया

261 सरकारी ट्यूबवेलों में से 174 चालू हैं

लघु सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि कुल 261 सरकारी ट्यूबवेल में से 174 ट्यूबवेल चालू हैं. विभिन्न कारणों से खराब पड़े ट्यूबवेलों को तत्काल चालू करने को कहा गया, ताकि किसानों को सुविधा मिल सके

जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि जिले में उर्वरकों की कोई कमी नहीं है, उर्वरकों की बिक्री पीओएस मशीन के माध्यम से निर्धारित मूल्य पर की जा रही है

साथ ही मोदनगंज प्रखंड के बंधुगंज पंचायत के मननपुर एवं परियावां में फसल, बागवानी, पशुपालन एवं कृषि विविधीकरण के माध्यम से टिकाऊ रोजगारोन्मुखी एवं लाभकारी खेती के लिए योजना को अपनाकर क्रियान्वित करने का निर्णय लिया गया।

Scroll to Top